Tuesday, September 29, 2015

प्रेम

तुम मुझे मिलना धरती के उस छोर पर
जहॉ सागर चूम रहा होगा,धरती को
मिठे बोल से सागर को मिठा करेंगे
और चले जाएँगे ,प्रेम के उस पार


Post a Comment