Sunday, October 6, 2013

सरल -कठिन

निर्मल, पारदर्शी
पानी बह जाता है
कुछ भी तो नहीं
न आर न पार

सरल बहुत सरल..

***********
कुछ भी न रहना
कुछ भी न होना

कठिन बहुत कठिन
Post a Comment